उपसर्ग की परिभाषा, भेद और उदाहरण | Upsarg In Hindi

Upsarg in Hindi: उपसर्ग को याद कैसे करे बड़ी आसानी से? क्या आप भी विद्यार्थी है और आपको उपसर्ग को समझना है या उसको समझने में समस्या आ रही है ?लेकिन आज आप बड़ी ही आसानी के साथ उपसर्ग को कंप्लीट कर लोगे ये मेरा वादा है लेकिन आपको यह लेख पूरा पढ़ना पड़ेगा।

Upsarg In Hindi : तो आज हम आपको बताएंगे upsarg kise kahate hain ? Upsarg Ki Paribhasha? Upsarg Ke Bhed? Upsarg Examples ? Upsarg Class – 10th,9,8 etc

Upsarg In Hindi
Upsarg In Hindi

Upsarg Kise Kahate Hain (उपसर्ग किस कहते हैं)

Upsarg Kise Kahate Hain: वह शब्दांश जो किसी अन्य शब्द के पहले जुड़कर उसके अर्थ में परिवर्तन ला देते हैं Upsarg कहलाते हैं Upsarg Ki Paribhasha: Upsarg Definition: भाषा प्रयोग में कुछ ऐसे मूल वर्ण या समूह होते हैं जिनका अर्थ की दृष्टि से और विभाजन नहीं किया जा सकता इस प्रकार के मूल शब्द भाषा की अविभ्जय इकाई होते हैं। ये किसी शब्द से पहले जुड़कर नए अर्थ का निर्माण करते हैं, चूंकि ये एक स्वतंत्र शब्द के रूप में प्रयुक्त नही होते इसलिए इन्हे उपसर्ग कहा जाता है।उपसर्ग की आसान परिभाषा: उपसर्ग वे शबदंश होते हैं जो शब्द के पहले जुड़कर शब्द का अर्थ बदल देते हैं।उपसर्ग शब्द उप+ सर्ग इन दो शब्दो के मेल से बना है जिसमे सर्ग मूल शब्द है जिसका अर्थ है जोड़ना या निर्माण करना उदाहरण – उप+ हार= उपहार (यहां उप उपसर्ग है और हार मूल शब्द)

Upsarg Ke Bhed (उपसर्ग के भेद )

हिंदी भाषा में मुख्यत: तीन प्रकार के उपसर्ग होते हैं –

1. संस्कृत के उपसर्ग

2. हिंदी के उपसर्ग

3. उर्दू/ विदेशी भाषा के उपसर्ग

Upsarg In Sanskrit (संस्कृत में उपसर्ग)

Upsarg In Sanskrit:संस्कृत के सभी उपसर्ग तत्सम शब्दो के साथ हिन्दी में प्रयुक्त होते है उदाहरण: अति, अधि, अनु, अप आदि

Upsarg examples in Sanskrit :

संस्कृत में 21 उपसर्ग होते है आपको नीचे संस्कृत उपसर्ग के अर्थ और उनसे बनने वाले शब्द दिए गए हैं

Upsarg (उपसर्ग)अर्थ
उदाहरण
अधिअंतर्गत/प्रधानअधिकार, अधिशेष, अधिकरण, अधिष्ठात
अति ऊपर/अधिक/परेअतिप्रिय, अतिरिक्त, अत्यधिक, अतिसार
अनुसदृष्य/पीछेअनुकरण, अनुसंधान, अनुयायी, अनुग्रह, अनुज
अपनिरादर/दीनताअपमान, अपयश, अपव्यय, अपकीर्ति
अपि निश्चय/भीअपितु, अपिधान, अपिहित
अभि पास/ सामनेअभिमान, अभिवादन, अभिमुख, अभियान
अव अनादर/हीनताअवगुण, अवहेलना, अवनति, अवसाद, अवगाहन
पूर्ण/विपरीत/सीमाआदेश, आहार, आगमन, आजना,आगमन
उद़उच्चता/ऊपर/श्रेष्ठ उदार, उत्सर्ग, उत्साह, उद्धार, उत्थान, उत्तम
उपसमीपता/सहायता उपहार, उपवास, उपदेश
दूर/दुसनिंदा/कठिनाई/बुरादुर्गुण,दुराचार, दुस्साहस, दुर्जन, दुष्कर्म
निनिषेध/अधिकतानिवारण, निलय
निर/निसनिषेध/रहित/बिनानिर्बल, निरपराध,निर्भय, निश्चल, निस्काम, निस्तेज
प्रअधिक/आगे/ऊपर प्रहार, प्रबल, प्रयोग
प्रतिसमानता /प्रत्येकप्रतिवर्ष, प्रतिवाद, प्रतिध्वनि
पराविपरीत/उल्टा/पीछेपराजय, पराधीन
परिचारो औरपरिवर्तन, परिक्रमा, पर्यावरण
समपूर्णता/सुंदरसंयोग, सम्मान, संसार
सु शुभ/अच्छा/सहजसुयोग,सुलभ, सुगम
विविशेष/अभाव विदेश,विहीन, विभाग
स्वअपना / निजीस्वतंत्र, स्वदेश, स्वार्थ
Upsarg Examples In sanskrit

पर संस्कृत के 21 उपसर्ग समाप्त होते है अब आपको हिंदी के उपसर्ग उदाहरण सहित नीचे दिए गए हैं

Upsarg In Hindi

Upsarg In Hindi: हिंदी भाषा में संस्कृत के उपसर्ग में परिवर्तन करके तद्भव उपसर्गों का निर्माण किया गया है।

Upsarg Examples In Hindi: यहां आपको हिंदी के उपसर्ग दिए गए है जिसमे सबसे पहले उपसर्ग उसके बाद उसका अर्थ और फिर उदाहरण दिए गए है।

Upsarg (उपसर्ग)अर्थउदाहरण
नहीं अकाज
ऊंचाउछालना, उतारना, उजड़ना
बुरा /नीचेऔगुण, औघट, ओसर
अन बिना अनपढ़,अनदेखा, अनमोल
अध आधा अधमरा, अधखिला, अधपका
अधो नीचे अधोगति, अधोमुख, अधोगत
उन एक कम उनसठ, उन्चास, उन्नाशी
क/कु बुरा/ कठिनकपूत, कुढंग, कुचाल
नि विपरीत निडर, निशान, निपट
स/सु अच्छा सपूत, सजल, सजीव, सुयश, सुकांत
भर भरा हुआ / पूराभरपूर, भरसक, भरमार
चौ चार चौमासा, चौराहा, चोखट
ति तीन तिरंगा, तिपाही, तिमाही
दु दो दुनाली, दुरंगा, दुमुहा
पर दूसरा परहित, परसुख, परकाज
बिन निषेध/अभावबिनदेखा, बिनखाया, बिनब्याहा
चिर सदैव चिरकाल, चिरजीवी, चिरपरिचित
बहु बहु – ज्यादा/अधिकबहुमूल्य, बहुमत, बहुवचन
सह साथ सहचर,सहगामी,सहयोग
स्व अपना स्वदेश, स्वराज, स्वभाव

यहां पर आपके हिंदी के उपसर्ग उदाहरण सहित समाप्त होते है अब हम कुछ उर्दू और विदेशी उपसर्ग के बारे में बात करके इसको समाप्त करते है

उर्दू ( विदेशी ) उपसर्ग – भारत में बहुत समय तक उर्दू व अन्य विदेशी भाषाएं प्रचलित रही है अत: हिंदी भाषा में उर्दू, अंग्रेज़ी आदि अनेक भाषाओं के उपसर्ग भी प्रयुक्त होने लगे है

अल निश्चित अलविदा, अलबेला ,अलमस्त
ना रहित नालायक, नापसंद, नापाक
ऐन ठीक एनवक्त ऐनमौका
ला बिना लाचार, लाजवाब, लापता
बद रहित /बुराबदनाम, बदजात, बदतमीज
बा अनुसार/साथबाकायदा, बाअदब, बाइज्जत
गैर रहित/ भिन्नगैरहाजिर, गेरकानुनी, गेरमुल्क
खुश अच्छा -खुशमिजाज, खुशकिस्मत, खुशखबरी
कम थोड़ा कमजोर,कमसिन,कमअक्ल
हम साथ हमदम,हमसफर, हमराह
बिला बिना बिलावजह, बिलाशक, बिलाकशूर
बे अभाव बेचारा, बेहद, बेचैन
दर में दरहसल, दरकार, दरवेश
हर प्रत्येक हरघडी,हरवर्ष, हररोज
साथ/परबदस्तूर, बतौर, बेशर्त
सर मुख्य/प्रधानसरकार,सरदार, सरताज
नेक भला नेकदिल, नेकनीयत, नेकनाम
हैड प्रमुख हेडमास्टर, हेडबॉय, हेडगर्ल
सब उप सब इंस्पेक्टर, सब डिवीजन, सब कमेटी
हाफ आधा हाफपेंट,हाफ टिकट, हाफ शर्ट
जनरल प्रधान जनरल मैनेजर, जनरल सेक्रेटरी

उपसर्ग और प्रत्यय में समानता –

उपसर्ग और प्रत्यय दोनो ही शब्दो के अंश होते है, पूर्ण शब्द नही । इनका अकेले प्रयोग नही किया जाता । दोनो के प्रयोग से ही अर्थ में अंतर आ जाता है। एक शब्द में इन दोनो को साथ भी जोड़ा जा सकता है ।उदाहरण

– अभि + मान + ई – अभिमानी

अ + ज्ञान + ई – अज्ञानी

स्व + तंत्र+ ता – स्वतंत्रता

Upsarg Class 10th,9,8

तो दोस्तो इस पोस्ट में दिए गए उपसर्ग कक्षा 8th 9th और 10th के लिए सबसे बढ़िया है और इस पोस्ट में आपके लिए सभी उपसर्ग उदाहरण सहित दिए गए है और अगर आप कक्षा 9 , 10th, 8 में हो तोह आपके लिए ये बहुत काम के है अत इन्हें ध्यान से याद कर लीजिए।

50 Upsarg In Hindi :उपसर्ग के 50 उदाहरण –

  • स्वदेश, स्वराज, स्वभाव
  • सहचर,सहगामी,सहयोग
  • निडर, निशान, निपट
  • अधमरा, अधखिला, अधपका
  • उछालना, उतारना, उजड़ना
  • अपयश, अपमान, अपकार
  • अवगुण, अवनति, अवतार
  • अतिशय
  • अत्युत्तम
  • अत्याचार
  • अत्युक्ति
  • अतिक्रमण
  • अतिरिक्त
  • अत्यधिक
  • अतिपावन
  • अध्यादेश
  • अधि + अयन = अध्ययन
  • अधि + पति = अधिपति
  • अधि + अक्ष = अध्यक्ष
  • अन् + अंत = अनंत
  • अन् + इच्छा = अनिच्छा
  • अन् + आचार = अनाचार
  • अन् + उदार = अनुदार
  • अन् + एक = अनेक
  • अन् + आदर = अनादर
  • अनु + करण = अनुकरण
  • अनु + दान = अनुदान
  • अनु + गमन = अनुगमन
  • अनु + भव = अनुभव
  • अनु + भूति= अनुभूति
  • अनु + रूप = अनुरूप
  • अनु + सरण = अनुसरण
  • अनु + कंपा = अनुकंपा
  • अनु + शासन = अनुसाशन
  • अनु + वाद = अनुवाद
  • अप + यश = अपयश
  • अप + मान = अपमान
  • अप + कर्ता = अपकर्ता
  • अप + शब्द = अपशब्द
  • अप + कार = अपकार
  • अप + हरण = अपहरण
  • अप + वाद = अपवाद
  • अप + शकुन = अपशकुन
  • अभि + कथन = अभिकथन
  • अभि + आस = अभ्यास
  • अभी + रक्षा = अभिरक्षा
  • अभी + नेता = अभिनेता
  • अभी + शाप = अभिशाप 
  • अभी + योग = अभियोग
  • अभी + मुख = अभिमुख
  • अभी + नव = अभिनव
  • अवतार
  • अवचेतन

FAQ :

1. हिंदी में उपसर्ग कौन – कौन से है?

उत्तर – हिंदी में कुल 20 उपसर्ग है जैसे – बहु, सह, स्व, बिन इत्यादि

2. संस्कृत में उपसर्ग का क्या अर्थ है ?

वे शब्द जो किसी शब्द के आगे लगकर अर्थ में परिवर्तन ला देते है वैसे इनका कोई अर्थ नहीं होता संस्कृत में कुल 21 उपसर्ग होते है

3. उपसर्ग किसे कहते है

वह शब्दांश जो किसी अन्य शब्द के पहले जुड़कर उसके अर्थ में परिवर्तन ला देते हैं Upsarg कहलाते हैं।

4. उपसर्ग कितने प्रकार के होते है ?

हिंदी भाषा में मुख्यत: तीन प्रकार के उपसर्ग होते हैं -1. संस्कृत के उपसर्ग2. हिंदी के उपसर्ग3. उर्दू/ विदेशी भाषा के उपसर्ग

- Advertisement -spot_img
Latest news
Related news
- Advertisement -HostArmada - Affordable Cloud SSD Web Hosting

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here